Skip to main content

Posts

Showing posts from June, 2020

Pavement Quality Concrete (PQC) / Cement Concrete Pavement

Pavement Quality Concrete (PQC) /Cement Concrete Pavement   PQC is a top most layer in rigid pavement. PQC roads are more durable than  bituminous roads I. e. The life of rigid pavements is more than Flexible pavements.in this article you will learn about PQC material and its quantity, Dowel and tie bars specifications and it's tolerances limits, joint formation and its filling process  and measurement. Scope The work shall consist of construction of un-reinforced, dowel jointed,plain cement concrete pavement in accordance with the requirements of these Specifications and in conformity with the lines, grades and cross sections shown on the drawings. The design parameters, viz., thickness of pavement slab, grade of concrete, jointdetails etc. shall be as stipulated in the drawings. To get more details about Flexible pavement (Bituminous concrete),  kindly click on below link 🔗  https://www.gyanofcivilengineering.com/2020/05/bituminous-concrete-bc-specifications.html M

1 सीमेंट बैग के आयतन की गणना (Calculation for volume of one cement bag in Hindi)

Calculation for volume of one cement bag in HINDI  निर्माण कार्य में सीमेंट एक प्रमुख भूमिका निभाता है।  यह बांधने का कार्य करता है जो कठोर, और अन्य सामग्रियों को एक साथ बांधे हुए रखता  है।  यहां हम संपूर्ण  प्रक्रिया को सीखेगै कि हम सीमेंट के 1 बैग की मात्रा की गणना कैसे कर सकते हैं। 1 सीमेंट बैग की मात्रा की गणना करने के लिए विस्तृत गणना  हम जानते हैं कि  द्रव्यमान = आयतन × घनत्व  अत:  आयतन = द्रव्यमान / घनत्व   हम यह भी जानते हैं  सीमेंट का घनत्व = 1440 किग्रा / मी ^ 3  1 सीमेंट बैग का वजन = 50 KG  सूत्र में मान रखने  पर   आयतन = द्रव्यमान / घनत्व  एक सीमेंट बैग का आयतन= 50/1440 घन मीटर एक सीमेंट   बैग का आयतन  = 0.03472 घन मीटर  एक सीमेंट  बैग का आयतन   ली टर में दिया जा सकता है  हम जानते हैं कि  1 घन मीटर = 1000 लीटर  अत:  एक सीमेंट बैग का आयतन = 0.03472 × 1000 एक सीमेंट  बैग का आयतन=   34.72 लीटर  घन फीट में एक सीमेंट बैग की मात्रा दी जा सकती है  हम जानते हैं कि   1 घन मीटर = 35.315 घन फीट अत:  ए

Cement treated soil and cement flyash treated sub-base /base (CTSB)[Detailed specifications and it's tolerance limits]

Cement treated sub-base (CTSB) / cement treated base (CTB) acts as a base course or sub base course depends upon purpose of use. CTSB/CTB course are capable to carry more loads than granular sub base (GSB). CTSB/CTB performance is good in rutting and fatigue cracking as compared to GSB. When we compare CTSB/CTB courses with GSB course, CTSB/CTB gains strength as time passes even under traffic load.  So to get detailed information, let's begin............... 1-Scope This work shall consist of laying and compacting a sub-base/base course of soil treated with cement or cement-flyash on prepared subgrade/sub-base, in accordance with the requirements of these Specifications and in conformity with the lines, grades and cross-sections shown on the drawings or as directed by the Engineer. To get the more technical specifications about granular sub base (GSB),kindly click on below link 🔗  https://www.gyanofcivilengineering.com/2019/02/full-details-about-gsb-including.html 2-Materials

Rolling (रोलिंग) क्या है ?सड़क निर्माण में रोलिंग पासों (Rolling passes) की आवश्यक संख्या और रोलिंग पैटर्न (Rolling pattern) क्या होता है ?

इस लेख(article) में शामिल हैं  1-रोलिंग क्या है और सड़क निर्माण में रोलिंग  की आवश्यकता क्यों है?  2- रोलर का प्रकार [मिट्टी कम्पेक्टर(Soil compactor) और अग्रानुक्रम(Tandem) ]  3-रोलिंग और रोलर की गति की प्रक्रिया  4 रोलिंग पास की आवश्यक संख्या  और रोलिंग पैटर्न  5- रोलिंग करने के दौरान सावधानियां To read  this article in English, please click on below link 🔗  https://www.gyanofcivilengineering.com/2019/02/standard-rolling-process-of-various.html  1-रोलिंग क्या है और सड़क निर्माण में रोलिंग की आवश्यकता क्यों है?  रोलिंग का मतलब होता है कणों को एक दूसरे के करीब दबाना।  रोलिंग के दौरान हवा को मिट्टी के द्रव्यमान(soil mass) में शून्य स्थान(void space) से निष्कासित(expelled) कर दिया जाता है और इसलिए, जन ​​घनत्व (mass density) में वृद्धि होती है।   मिट्टी के द्रव्यमान (soil mass) का रोलिंग इसके इंजीनियरिंग गुणों को बेहतर बनाने के लिए किया जाता है।  रोलिंग किसी भी आवश्यक सड़क परतों में संघनन(compaction) प्राप्त करने के लिए एक कृत्रिम प्रक्रिया (artificial process) है।  जो मिट्टी के घनत्व (इ